कच्चे और पके आम को स्टोर करने का तरीका जानें

tips to store mangoes at home

आम को लंबे समय तक स्टोर करने के कुछ आसान टिप्स जानना चाहें, तो हमारे बताए गए इन टिप्स को जरूर पढ़ें। 

How to Store Mangoes : गर्मियों के मौसम में आम नहीं खाए तो क्या किया? इस समय बाजार तरह-तरह की आम की वैरायटी से भरे होते हैं। आम खाने के शौकीन जो होते हैं, अनके घरों में अक्सर आपको आम की बाढ़ दिखेगी। कच्चा या पका हुआ दोनों तरह के आम को फल, सब्जी और चटनी-आचार के रूप में खाया जाता है, इसलिए भी लोग बहुत सारे आम खरीद लेते हैं।

अब जब आम खरीद लिए तो एक साथ तो आप सभी चीजों को नहीं बना सकते, इसलिए उन्हें स्टोर करते वक्त यह चिंता रहती है कि कहीं वो जल्दी खराब न हो जाएं। आम कुछ तत्वों के प्रति संवेदनशील होते हैं और इन्हें खराब होने से बचाने के लिए आपको देखभाल की जरूरत होती है। इन्हें हमेशा टेंपरेचर-कंट्रोल कंटेनर और एरिया में रखे जाना चाहिए। आइए आज आपको ऐसे कुछ टिप्स बताएं, जिनकी मदद से आप आमों को सही से स्टोर करके रख सकते हैं।

ऐसे स्टोर करें कच्चे आम

अगर आपने सोचा है कि आप कच्चे आम का उपयोग कुछ दिनों बाद करेंगे, तो आप उन्हें पहले ही फ्रिज में न रखें। कच्चे आम को हमेशा किसी कम रोशनी वाली जगहों को रखना चाहिए, ताकि उनका फ्लेवर खराब न हो। अगर आप उन्हें फ्रिज में या ऐसे ही कहीं भी रख देंगे, तो आपके आम जल्दी खराब हो सकते हैं। इसके साथ ही उन्हें रोजाना चेक भी करते रहें।

इसी तरह दूसरा तरीका है कि अपने कच्चे आमों को सेब या केले जैसे अन्य फलों के बगल में रख दें। उन फलों से पर्याप्त मात्रा में एथिलीन गैस निकलती है, जो आम के पकने की प्रक्रिया को तेज करने में मदद करती है। ऐसे में आप कच्चे आमों को 3-4 दिनों तक स्टोर कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : Easy Tips: कच्चे आम को घर पर इस तरह पकाएं, लगेगा बाज़ार से भी अधिक स्वादिष्ट

ऐसे स्टोर करें पका आम

अगर आप चाहते हैं कि आपका पका हुआ आम खराब न होत उन्हें तुरंत फ्रिज में रख दें। ठंडे टेंपरेचर में पके हुए आम 6 दिन तक आराम से चल जाते हैं, इसके बाद वह धीरे-धीरे खराब होने लगते हैं।

अगर आपने आमों को काटकर रखा है और आप उन्हें स्टोर करना चाहते हैं, तो उसे किसी ऐसे एयरटाइट कंटेनर में रखें, जिसमें ऑक्सीजन न घुस सके। इससे भी आपके आम खराब नहीं होंगे और आप उन्हें 3-4 दिन तक ऐसे स्टोर करके रख सकते हैं।

आम को लंबे समय तक स्टोर करने के तरीके-

  • आसान पैकेजिंग के लिए अपने आमों को क्यूब्स या स्लाइस में काट लें। कच्चा या पका आम के पहले टुकड़े कर लें और इन्हें न ज्यादा छोटा रखें और न ज्यादा बड़ा। टुकड़े ऐसे होने चाहिए, जो फ्रोजन हो सकें। अधिकतर लोग जमने पर आम का छिलका उतार देते हैं, लेकिन यह जरूरी नहीं है। अंतर केवल इतना है कि आमों को जमने और गलने में थोड़ा अधिक समय लग सकता है।
  • इसके बाद आम के टुकड़ों को एक पैक और सील जिपलॉक में रखें। बस इतना ध्यान रखें कि इन्हें फ्रिज में रखते हुए बैग में ऑक्सीजन न रह जाए।
  • अपने जिपलॉक बैग को फ्रीजर में हॉरिजॉन्टली रखें। इसके साथ फ्रीजर का टेंपरेचर -18 °C होना चाहिए।
  • अब जब आपने आम को फ्रीजर में रखा है तो इसे 6 महीने के अंदर-अंदर उपयोग कर लें। उपयोग करने से पहले उसे फ्रीजर से निकालकर फ्रिज में रखें। जब क्यूब्स सॉफ्ट हो जाएं, तब उन्हें इस्तेमाल कर सकते हैं। फ्रोजन आम में फ्रीजर बर्न के कारण ब्लैक स्पॉट्स हो सकते हैं, मगर आप उन्हें खा सकते हैं।

सड़े हुए आम के लक्षण

  • अगर आपके आम का स्वाद बदल गया है या बदबूदार गंध आ रही है तो यह क्लीयर साइन है कि आपके आम खराब हो गए हैं।
  • अगर आम नरम या अलग गूदेदार हो गया है, तो वो बहुत ज्यादा पक गए हैं और खराब हो गए हैं।
  • अगर आपके आम का कलर खराब होने लगा है। बहुत ज्यादा ब्लैक स्पॉट्स का मतलब है कि आम सड़ चुके हैं।
  • अगर आप देख रहे हैं कि आपके आम में फफूंद लगना शुरू हो चुकी है, तो उसे खाना बेवकूफी है।

हमें उम्मीद है कि आम को स्टोर करने के यह टिप्स आपके काम आएंगे। आप भी इनके जरिए अपने लाए हुए आम को खराब होने से बचा सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसे लाइक और शेय़र करें। ऐसे अन्य आर्टिकल पढ़ने के लिए जुड़े रहें हरजिंदगी के साथ।

Image Credit : Freepik

Disclaimer

आपकी स्किन और शरीर आपकी ही तरह अलग है। आप तक अपने आर्टिकल्स और सोशल मीडिया हैंडल्स के माध्यम से सही, सुरक्षित और विशेषज्ञ द्वारा वेरिफाइड जानकारी लाना हमारा प्रयास है, लेकिन फिर भी किसी भी होम रेमेडी, हैक या फिटनेस टिप को ट्राई करने से पहले आप अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें। किसी भी प्रतिक्रिया या शिकायत के लिए, [email protected] पर हमसे संपर्क करें।

Read More

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.

By Thinkingfunda

Leave a Comment