कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर है?

आजकल टेक्नोलॉजी बड़ी तेजी से घर घर तक पहुंच रही है. और ऐसे में online studies का चलन तो हर किसी को technical device जैसे फोन, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि खरीदने के लिए प्रेरित कर रहा है. अगर आप भी नया लैपटॉप या कंप्यूटर लेने का सोच रहे हैं और यह निश्चित नहीं कर पा रहे हैं कि आपको डेस्कटॉप कंप्यूटर लेना चाहिए या फिर लैपटॉप लेना चाहिए.

जब भी लोग नया कंप्यूटर डिवाइस लेने का सोचते हैं तब उनके मन में सबसे पहला सवाल यही आता है. वैसे तो डेस्कटॉप कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों ही कंप्यूटर है लेकिन फिर भी दोनों में काफी अंतर देखने को मिलता है. कंप्यूटर खरीदने के समय लोग यही सोचते हैं कि अगर एक जगह पर काम करना है, तो डेक्सटॉप सही है क्योंकि उसे हर जगह नहीं ले जाया जा सकता.

लेकिन अगर आपका काम बाहर होता है तो ऐसे में लैपटॉप लेना आपके लिए सही विकल्प साबित होगा. इस तरह से कंप्यूटर खरीदने का तरीका पुराना हो गया. आज अगर आप नया कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदते हैं, तो इस बात के अलावा भी आपको कई बातों का ध्यान रखना होता है.

जिसके बारे में आप इस पोस्ट में जानेंगे. इस पोस्ट में आपको computer और laptop के बीच का अंतर को बताया जाएगा तो इसे पूरा जरूर पढ़ें.

कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच अंतर स्पष्ट करने से पहले चलिए जान लेते हैं कि Desktop computer क्या है और Laptop क्या है?

डेस्कटॉप कंप्यूटर क्या है?

Desktop Computer को personal computer के नाम से भी जाना जाता है. इस कंप्यूटर को विशेषकर एक जगह पर काम करने के लिए बनाया गया है. इस तरह के कंप्यूटर का उपयोग अधिकतर एक टेबल के ऊपर रखकर किया जाता है.

ऐसे कंप्यूटर में अलग-अलग तरह के components जैसे monitor, keyboard, mouse, CPU अलग से लगे होते हैं. डेस्कटॉप कंप्यूटर को traditional computer के नाम से भी जाना जाता है. इस तरह के कंप्यूटर में battery नहीं होते हैं.

लैपटॉप क्या है?

Laptop कंप्यूटर का ही advance version है. जहां कंप्यूटर में monitor, CPU, mouse सभी अलग-अलग होते हैं. वहां लैपटॉप एक ऐसा डिवाइस है, जिसमें यह तीनों components एक साथ मौजूद होते हैं. लैपटॉप एक छोटे आकार का कंप्यूटर होता है. जिसे आसानी से अपने बैग में डालकर कहीं भी ले जाया जा सकता है.

लैपटॉप पूरी तरह कंप्यूटर की तरह ही काम करता है लेकिन यह केवल आकार में छोटा होता है. Laptop कुछ कुछ notebook के तरह ही होता है. Laptop उन लोगों के लिए अच्छा है जो ट्रैवल करते हुए काम करते हैं.

कंप्यूटर और लैपटॉप क्या है? इसके बारे में तो आप जान गए होंगे. वैसे तो दोनों ही कंप्यूटर है फिर यह एक दूसरे से अलग कैसे है? तो चलिए देखते हैं कि इन दोनों के बीच क्या अंतर है जो इन्हें दूसरे से अलग बनाता है.

दुनिया का सबसे पहला laptop कौन सा है?

दुनिया का सबसे पहला laptop था Toshiba T1100.

किस कंपनी ने पहली बार लैपटॉप बनाया था?

Toshiba कंपनी ने सबसे पहली बार लैपटॉप बनाया था.

लैपटॉप का अविष्कार किसने किया था?

लैपटॉप का अविष्कार एडम ओसबोर्न ने किया था.

कंप्यूटर और लैपटॉप में अंतर

कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों एक जैसे ही काम करते हैं. लेकिन कई सारे ऐसे factors है जिसके आधार पर कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच में अंतर देखने को मिलता है. कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच का अंतर.

Price – Price ऐसा factors है जो कंप्यूटर और लैपटॉप दोनों को ही प्रभावित करता है. जहां आपको एक अच्छा लैपटॉप लेने के लिए 25,000 – 30,000 रुपए खर्च करने पड़ते हैं वही आपको एक अच्छा कंप्यूटर 20,000 – 25,000 रुपए में मिल जाता है. इसीलिए price के आधार पर देखें तो दक्ष कंप्यूटर ज्यादा अच्छा है.

Portability – portability की बात करें तो कंप्यूटर का आकार इतना बड़ा होता है कि उसके जगह को बार-बार बदला नहीं जा सकता. साथ ही कंप्यूटर के साथ CPU और mouse जुड़े होते हैं. जिससे इसे कही भी ले जाने में परेशानी होती है. वही लैपटॉप की size एक नोटबुक जितनी होती हैं. तो इसे आसानी से कही भी ले जाया जा सकता हैं. तो portability को ध्यान रखकर सोचे तो laptop सबसे अच्छा विकल्प हैं.

Screen Size – कंप्यूटर या फिर लैपटॉप में Screen size बहुत जरूरी होती है. कंप्यूटर के मॉनिटर यानी स्क्रीन को अपनी सुविधा के अनुसार चेंज किया जा सकता है. लेकिन laptop एक fixed screen size के साथ आती हैं. जिसमें किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता है. इसलिए अगर आपको बड़ा स्क्रीन चाहिए तो आप डेस्कटॉप कंप्यूटर का चयन कर सकते हैं.

Functioning – Functioning यानि काम करने की क्षमता, किसी भी कंप्यूटर या लैपटॉप की सबसे जरूरी feature उसकी कार्य करने की क्षमता है. लैपटॉप के मुकाबले कंप्यूटर में ज्यादा अच्छे Processor, RAM, GPU आदि मिलते हैं. यही कारण है कि ज्यादातर सभी High definition काम डेस्कटॉप कंप्यूटर में लिए जाते है जैसे – video editing, gaming, animation designing, programming आदि.

Upgradation – कंप्यूटर या लैपटॉप दोनों को ही लंबे समय तक इस्तेमाल करने के बाद upgrade करने यानि उनके storage capacity, RAM, Processor आदि को बढ़ाने की जरूरत पड़ती है.

Upgradation की बात की जाए तो एक लैपटॉप के मुकाबले डेस्कटॉप में upgrade करना आसान होता है. साथ ही कंप्यूटर कम खर्च में ज्यादा अच्छे से upgrade भी होता है. वही लैपटॉप को upgrade करना थोड़ा मुश्किल हैं, साथ ही इसमें ज्यादा खर्च भी होता हैं.

Repairing – Repairing ऐसा factor हैं जो कंप्यूटर और लैपटॉप के बीच के भारी अंतर स्पष्ट करता हैं. कंप्यूटर खराब हो जाने पर उसके खराब parts को ठीक करके या बदलकर फिर यूज में लाया जा सकता हैं. साथ ही इसमें ज्यादा खर्च भी नहीं लगता हैं.

वही लैपटॉप में सभी चीजें inbuilt होने के कारण इसमें थोड़ी सी भी खराबी आने पर इसके repairing में भारी खर्चा उठाना पड़ता हैं. कभी कभी तो एक खराब लैपटॉप को ठीक करने की कीमत इतनी ज्यादा होती हैं कि उसमें नया कंप्यूटर खरीदा जा सकता हैं.

इस तरह अगर आप घर पर रहकर काम करते हैं तो आप को आंख बंद करके कंप्यूटर ही लेना चाहिए. लेकिन आप को अपना काम travel करते हुए करना पड़ता हैं तब लैपटॉप आप के लिए best होगा.

Parameters of Comparison Desktop Laptop
Power करने की प्रक्रिया switch on करने के लिए Works on electricity through wall sockets Works on batteries
Portability Not so portable Portable
Mobility stationed Mobile
Storage capacity कैसी High storage Low storage
Components (keyboard, CPU,mouse, etc.) External components Built in components

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों मैं आशा करता हूं कि इस पोस्ट में बताई जानकारी के बाद आपको समझ आ गया होगा कि कंप्यूटर और लैपटॉप में क्या अंतर होता है अब आप अपने लिए सही डिवाइस का चयन कर सकेंगे. यह पोस्ट आपको कैसा लगा नीचे कमेंट करके जरूर बताइए.

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इस अपने दोस्तों के साथ में जरूर शेयर कीजिए.

Leave a Comment